कृषि कानून किसानों बड़ी जीत | गृहमंत्री अमित शाह बड़ा फैसला

कृषि कानूनों को लेकर जहाँ एक तरफ पूरे देश के किसान लगातार प्रोटेस्ट कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ इस प्रोजेक्ट को खत्म करने के लिए मोदी सरकार ने अपने ऊची चोटी का ज़ोर लगा दिया लेकिन अब जो तस्वीर बनती हुई दिखाई दे रही है ये सरकार के लिए जो डालने वाली मोदी सरकार के अंदर ही फूड पड़ गए हैं

साथ ही साथ देश के गृह मंत्री अमित शाह पार कर दिया है क्या कुछ किया है इसके बारे में भी हम आपको विस्तार से जानकारी देंगे साथ ही साथ जो है अन्ना हजारे जो अनशन करने जा रहे थे जो आंदोलन करने जा रहे थे उस पर एक ओर बड़ी अपडेट्स सामने आ रही है इसके बारे में भी हम आपको बताएंगे उससे पहले छोटी सी रिक्वेस्ट है अगर आपको भी लगता है कि आज जो हमारे अन्यथा पीसफुली अपना प्रोटेस्ट कर रहे हैं उसमें जीस तरह से दिल्ली में घटना हुई है

उसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए अगर आप भी ऐसी मांग करते हैं तो वीडियो पर लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब जरूर करनी चाहिए सबसे पहले हम आपको तस्वीर दिखाना चाहते हैं आप एक तस्वीर देखें ये तस्वीर सिंधु बॉर्डर की है जहाँ पर राकेश ठीक है अभी फ़िलहाल प्रोटेस्ट कर रहे हैं जो सरकार ने सोचा नहीं था वो होता दिखाई दे रहा है पहले आप इस तस्वीर को देखें उसके बाद हम आगे चर्चा करते हैं चलो मैं दिखा

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को लेकर बीजेपी में सियासी घमासान मच गया है पार्टी के भीतर ही लोनी के विधायक मंद किशोर गुर्जर को निष्कासित करने की मांग की गई है दरअसल इन विधायक जी के ऊपर जो बीजेपी के विधायक हैं

उनके ऊपर आरोप है कि उन्होंने का काम किया उन्होंने किसानों को जो है कही ना कही बहुत साड़ी चीजों में बदलाव लाने का काम किया जिसके चलते यह मांग की गई लोनी के व्यक्ति की चाह में रंजीता सामा ने कहा कि भाजपा की छवि ख़राब करने के लिए विधायक ने किसानों को उकसा है

पार्टी की छवि लोनी विधायक ने पहले भी खड़ा की थी उन्होंने विपक्षी नेताओं के साथ मिलकर सुधार सभा के बाहर धरना दिया था और अब जो बीजेपी बीजेपी अभी कृषि कानून को लेकर मजबूती से एक साथ खड़ी होती हुई दिखाई दे रही थी हरियाणा के अन्दर बीजेपी के ही विधायक आप अपनी पार्टी के अलावा पृथ्वी कानून को लेकर के सड़कों पर आ गया है जिसके चलते हरियाणा में बीजेपी के अंदर फूट पड़ गई है

आपको कौन सा पड़ता था अमीषा देश के गृह मंत्री उन्होंने कल रात को जीस तरह से इसराइल के जो दूतावास के सामने जो घटना हुई उस को ले उसके बाद एक बड़ा फैसला लिया है गर्म अंत निशा ने पश्चिम बंगाल का दो दिवसीय दौरा रद्द कर दिया है जानकारी मिली उन्होंने दिल्ली में किसान आंदोलन और इजरायल दूतावास के पास वे घटना के चलते बनी स्थिती की वजह से यह फैसला लिया है

जानकारी मिल रही है बता दे शुक्रवार को शाम करीब पांच बजे नई दिल्ली स्थित इसराइल के दूतावास के नजदीक मामूली एक घटना हुई आईडीओ विस्फोट हुआ इसमें कई गाड़ियों के शीशे भी टूट इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्री मिश्रा ने दिल्ली के पुलिस कमिशनर एस एन श्रीवास्तव से बात करते हुए अपना चलना शुरू किया साथ ही साथ बताया जाता है कि किसानों का जो आंदोलन है

लगातार जिसकी ताकत बढ़ती जा रही है इसको लेकर भी बीजेपी और मोदी सरकार के अंदर कहीं ना कहीं हड़कंप मचा हुआ है जिसके चलते देश के गृह मंत्री ने अपने इनको चेंज कर दिया है पहले तो थोड़ा तो ये किसानों की बड़ी जीत है किसानों का जो प्रदर्शन धीरे धीरे खत्म हो रहा था जिसमें फूट डालने की कोशीश की जा रही थी आप फोर्ट एकता में चेंज हो गयी बदल गई और खुद बीजेपी के अंदर फ़ूड पड़ रही है

एक और बड़ी खबरः हजारे वैसे तो मैं ये बार बार आप लोगो को अपडेट देता था कि अन्ना हजारे अनशन करने जा रहे थे लेकिन बहुत सारे लोग इस प्रकार है कि अन्ना हजारे के ऊपर भरोसा नहीं कर सकते हर

भरोसा नहीं कर सकते हर कुछ इसी तरह की तस्वीर सामने आई है बताया जा रहा है कि समाजसेवी अन्ना हजारे ने रस्सी कानूनों के ख़िलाफ़ अपना प्रस्तावित अनशन अब नहीं करने का ऐलान कर दिया है दरअसल अन्ना हजारे ने कहा था कि फीस अन्नान ने खुद महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और देवेन्द्र फडनवीस की मौजूदगी में ऐलान किया है

गौरतबल है कि कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ शनिवार को अनशन करने वाले यानी की आज अनशन करने वाले थे और अब वाचन न करने का उन्होंने फैसला किया है अब ये फैसला इस वजह से लिया है कि उन्होंने रातों रात पार्टी मारती है ये तो एक सोचने का विषय है और रॉक सोचने का ये आप सभी जानते हैं बहुत सारे लोग का ही रहते थे अन्ना हजारे पर भरोसा नहीं कर सकते हैं

साथ ही साथ एक और चौंकाने वाला उन्होंने बयान तक दे डाला है उन्होंने ये कहा है कि सरकार ने जो कृषि कानून बनाए हैं ये किसानों के हित के हैं जबकि अन्ना हज़ारे पहले से कह रहे थे कि ये तीनों कृषि कानून किसानों के हित के नहीं है इसमें किसानों को नुकसान होगा रातों रात उन्होंने अपना बयान भी बदलाव और आप अपने अनशन को न करने का फैसला किया था कही न कि उन लोगों की बात सच साबित होती दिखाई दे रही है

क्यों की वजह से लाखों का जल स्तर लगातार से दूर बॉर्डर पे जो पहुँच रहा है आपको अपनी इस प्रकार हैं नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी रैंक को जरूर शेयर करें सभी रिक्वेस्ट है अगर आपको ये वीडियो पसंद आया हो तो लाइफ के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों का शेयर करें ताकि इन्फोर्मेशन दूसरे लोग लोगों तक पहुँचें अगर आपने अभी तक हमारे चैनल को सब्सक्राइब नहीं किया तो नीचे ट्रैन में सबसे बड़ा हुआ है उसको दबा कर के चालकों से स्काई के नीचे आजकल लगता ही मिलते हैं कुछ और खबरों के साथ