ब्रेकिंग| आधी रात को लाखों किसान सिंधू बॉर्डर पहुंचे | अभी अभी फिर आंदोलन शुरू | BJP में सन्नाटा

काल आप ही रात को स्थानों का जो जो आंदोलन है वह पूरी तरह से कमजोर होता दिखाई दे रहा था और गोदी मीडिया इसका लगातार फायदा उठा रही थी लेकिन मोदी सरकार के द्वारा बनाए गए तीनों कृषि कान उनके ख़िलाफ़ एक बार फिर से किसानों में हल्ला बोल दिया है अभी रात को लाखों किसान किस तरह से फिर से बाहर जो है किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए सिंधु बॉर्डर पहुँच है

इसको लेकर कंपनी ख़बर सामने आ रही है साथ ही साथ राहत की शिकायत के समर्थन में बताया जा रहा है कि उनके गांव समेत कई जगहों से किसान अब फिर से जो है वापस किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए पहुंचते हैं जिसके चलते गोदी मीडिया में पहले ही सुनाता है साथ ही साथ सरकार के भी हाथ पांव फूल गए हैं हम आपको इस की एक तस्वीर दिखाई गई वीडियो पाएंगे कि किस तरह से आप देखें कि लाखों किसान राज्य स्थित है

जो कर भावुक हुए मीडिया के सामने उनके आसुओं का असर हुआ है और फिरसे एकबार आंदोलन खड़ा होता जा रहा है जिससे दिखाते है उससे पहले छोटी सी रिक्वेस्ट अगर आपको भी लगता है कि दोस्तों जीस तरह से और छब्बीस जनवरी के दिन किसानों की ट्रैक्टर ट्राली के अंदर जो घटना हुई है उसकी स्पष्ट तरीके से जांच होनी चाहिए अगर आप भी ऐसी मांग करते हैं

तो वीडियो लाइव करके चैनल को सब्सक्राइब ज़रुर कर लीजिए वैसे तो गोदी मीडिया फिराक में था कि किसी भी तरह से किसान आंदोलन खत्म हो और उसको मौका मिले की वो किस चीज़ को जस्टिफाई कर रहे थे और कहीं न कहीं उसकी बात छोड़ दें यानी कि किसान आंदोलन खत्म हो रहा है लेकिन रात को रात जो कुछ भी हुआ है ये जोखा देने वाला है सबसे पहले हम एक तस्वीर आपको देख खाते है

रात में शिकायत की उसके बाद आगे हम आपको बताते हैं कहाँ कहाँ और किन किन राज्यों के किसान फिर से बाहर दिल्ली के लिए खोज कर गया है पहले हम आपको दिखाते हैं जो मेरी वीडियो हैं जिसकी वजह से ये पूरा आंदोलन फिर से बाहर खड़ा होने जा रहा है वो आप देखे ये राकेश ठीक है

आप सभी जानते होंगे किसान नेता हैं और उनके भाई नरेश तब भी अब इनके समर्थन में उतर गया है आप इनके पहले वीडियो को देखे उसके बाद हम आगे चर्चा को बढ़ाते हैं उसके बाद आपको बताते हैं कि आगे का क्या हुआ है था

उन्होंने अपनी पंचायत बुलाई है और पंचायत में जो कुछ भी हुआ है वो कहीं न कहीं सरकार को एक बार फिर से टेंशन में डालने वाला है बताया जा रहा है भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिल्ली के संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत के समर्थन में गुरुवार देर रात हरियाणा की जींद के कंडेला गांव में ग्रामीणों ने जिन चंडीगढ़ मार्ग पर जाम लगा दिया है जाम की सूचना मिलते ही पुलिस मो पर पहुंची लेकिन लोगों ने करीब पंद्रह मिनट बाद खुद ही जान खोते हुए शुक्रवार को गांव में पंचायत कर आगे की रणनीति बनाने का फैसला कर लिया है बताया जा रहा है कि अब किसान हम संगठन जो पहले धीरे धीरे जो है

और पहना भी अपने घर की तरफ लौट रहे थे उन्होंने एक बार फिर से यह फैसला लिया है कि वे जिसतरह से पहले तीनों कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ सड़कों पर ले के फिर से एक बार स्थानों पर उतरेंगे और इसके चलते बताया जा रहा है कि सरकार अब पीछे हटती हुई दिखाई दे रही है अब देखना ही होता है कि अन्यदाता जो लगातार महीनों से सड़कों पर बैठा हुआ था उनके इस विरोध का असर सरकार के ऊपर किस तरह होता बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट से भी जो कमेटी बनाई गई थी और वो भी अब आज कल समय मीटिंग होने वाली है

और वो कमेटी सरकार को बताया कि सुप्रीम कोर्ट की प्रति को बताया कि किस तरह से आगे सर्वेक्षण से किस तरह से असफल इंपोर्ट को भी इस पर संज्ञान लेना चाहिए लेकिन ये एक बड़ी ख़बर है है और ही गोदी मीडिया के ऊपर भी जोरदार तमाचा है

आप देखी पूरी मीडिया के बहुत सारे चाटुकार पत्रकार लगातार किसानों के बीच पूरी प्रदेश को बदनाम करने की कोशीश करें लेकिन आखिरकार कुछ राज्य तत्वों की वजह से किसानों के अलावा कही ना कही जो प्रदर्शन उसको प्रदान किया गया और लाल किले वाली दुर्घटना है बहुत गंदगी थी और उसे कोई भी जस्टिफाई नहीं कर सकता हाँ कुछ लोगो की

अब ये किया गया इसमें सभी किसानों को प्रदान करना भी ठीक नहीं है लेकिन गोदी मीडिया को तो मौका मिला और मौका उसको मिल गया सात दिन भर से सात घंटे आप सभी जानते होंगे किस तरह से किसानों के बीच पुलिस फोर्स को पूरी तरह से जो है

खत्म करने की कोशीश की गई है आपकी अपनी क्या राय हैं नीचे कमेंट बॉक्स में प्रिया को जरूर क्षेत्रीय वीडियो को लाइक ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि एक फॉर्मेशन दूसरे लोगों तक पहुँचें मिलते कुछ और खबरों में था