ब्रेकिंग | किसान हिंसा पर BJP और RSS की साजिश पर बड़ा खुलासा | मोदी शाह से भिड़े ओवेसी

दूसरे कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन में जो घटना दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर मार्च के दौरान छब्बीस जनवरी यानी की रिपब्लिक डे के दिन हुई ऊब बहुत ही ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण थी और आप उस घटना को लेकर के किसानों ने एक बड़ा खुलासा किया है किसानों ने जो दावा किया वह चौंकाने वाला है

जिसमें बीजेपी और आरएसएस के ऊपर सीधा सचिन हवाई यानी के माध्यम पार्टी के प्रेसिडेंट और बीजेपी देश के गृह मंत्री अमित शाह और मोदी के उपर उन्होंने एक बड़ा आरोप लगाया है की सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है साथ ही साथ किसानों की पंचायत के अन्दर एक एक करके सभी खबरों के बाद विस्तार से जानकारी देंगे उससे पहले छोटी सी रिक्वेस्ट है

अगर आपको भी लगता है जिसतरह से दिल्ली के अंदर किसानों के बीच पूरी प्रोटेस्ट में जो मामला हुआ जो घटना हुई जो हिस्सा है उसकी स्पष्ट जांच होनी चाहिए और हाँ आरोपियों को सख्त सजा होनी चाहिए अगर आप भी ऐसी मांग करते हैं तो वीडियो को लाइक करके चैनल को सब्सक्राइब जरूर कर लिया सबसे पहले तो आप इस ख़बर को पढ़ लिया कहा अनुकृति कानूनों का विरोध रहे किसानों की गणतंत्र दिवस के दिन निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में जो कुछ हुआ वह दुनिया ने देखा इस हिंसा के बाद जहाँ एकता आंदोलन कमजोर पड़ता नजर आया तो अभी वहीं किसान नेता अब फिर से बात अपने आंदोलन को तेजी देने की लगातार कोशीश में लगे हुए हैं

और आप देख ही रहे होंगे कि किसान आंदोलन फिर से बा किस तरह से और भी तेजी से आगे बढ़ रहा है इसी बीच किसान नेता बलवीरसिंह राजीव कुमार ने कहा है की सिंधु बॉर्डर पर विरोध कर रहे किसानों को भड़काने के लिए साजिश की गई थी वे किसी भी हिंसा का आँ नहीं मानते इस दौरान राज्यपाल ने लोगों से शांतिपूर्ण तरीके से विरोध में शामिल होने की अपील भी की गई है भारतीय किसान यूनियन राजेवाल के अध्यक्ष भावी सिंह राजीव ने कहा है

कि दिल्ली की सीमाओं पर बैठक की शाम शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं वे आज भी शांतिपूर्ण प्रदर्शन नहीं करेंगे उन्होंने शांतिपूर्ण प्रदर्शन पर जो़र देते हुए कहा मैं लोगों से शांतिपूर्ण विरोध में शामिल होने की अपील भी करता हूँ साथ ही था उन्होंने यह भी बता है कि इस प्रदर्शन के अंदर

इससे पहले भी आप लोगों ने देखा होगा कि बहुत सारे विडियोज के अंदर बहुत सारे जो है घटनाओं के अंदर किस तरह से कुछ तस्वीरें वायरल हुई जिसे दिल से दुखी तस्वीर देश के ग्रहमंत्री हमेशा के साथ वायरल हुई उसके बाद जो लोग पत्थरबाजी कर रहे थे वहाँ पर जो है किसानों के टेंट के ऊपर उस में एक शख्स बीजेपी से जुड़ा हुआ था और उसका फोटो देश के गृह मंत्री हमेशा के साथ में था तो इन साली चीजों को मद्देनज़र रखते हुए किसानों को भी पता चल गया है

इसमें कोई न कोई साजिश जरूरी है और इसी को लेकर किसान नेताओं ने साथ ही पूर्णपणे प्रोटेस्ट को आगे बढ़ाने के के साथ साथ बीजेपी आरएसएस को भी घेरा है उनका साफतौर पर कहना है कि इस घटना में जो कुछ भी हुआ है इसमें बीजेपी आरएसएस के लोगों का हाथ है और इन लोगों ने ही वाटर पार्क सिंधु बॉर्डर पर भी पुलिस प्रोटेस्ट में आकर के प्रदर्शनकारियों को भड़काने का काम किया है साथ ही साथ उकसाने की कोशीश की जिसके चलते कुछ हुआ है

अगर निष्पक्ष जांच होगी तो सारा मामला साबित सच चाहिए सामने आ जाएंगे लेकिन हो ता सर आपको अपनी इस प्रकार हैं नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी रैंक को जरूर चेक करें बात करके गवर्नमेंट खाता एमआईएम प्रसिडेंट सजनवा इसी आप सभी जानते हैं एक धाकड़ नेता माने जाते हैं और हैदराबाद के साथ साथ भी है और इसी में गुलबर्ग यानी कि कलबुर्गी में जनसभा को संबोधित करते हुए एक बार फिर से केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है वैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी एक तरफ महात्मा गाँधी की उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देते हैं वहीं दूसरी तरफ सावरकर को भी मानते हैं जबकि महात्मा गाँधी के जो आरोपी हैं

उनको अनुमति हत्या के आरोपी हैं वो गोडसे के मानने वाले लोग हैं वैसी ने आगे कहा एक तरफ सत्ता में बैठे लोग गाँधी के बारे में बात करते हैं तो वहीं दूसरी ओर दिमाग में महान गाँधी के हत्यारे गोडसे उनके दिमाग में रहता इतना ही नहीं ओवैसी ने आगे कहा कि वर्तमान में सप्ताह में बैठे लोग गोडसे के नफरत फैलाने वाले विचारों पर चल रहे हैं इसी नफरत की वजह से देश में दंगे और इस तरह की घटनाएं आप लोगों ने देखा होगा लोगों के बीच नफरत फैल रही है

इसमें लोगों का हाथ वैसी ने सिखों को लेकर बयान दिया और इसके साथ साथ जो हैं कई और बातों पर अपनी यानी की बाते उन्होंने रखी उनका साफ साफ कहना है कि जो आज सांप्रदायिक माहौल देश में लगातार बनता जा रहा है लोगों के बीच खरीदी जा रही है

इसके पीछे केंद्र सरकार है और केंद्र सरकार की वजह से ही लोगों के बीच की नफरत फैल रही है क्योंकि इस तरह से बीजेपी के चुनावी कैंपेन हो चाहे बीजेपी नेताओं बयान उन्होंने साफ तौर पर

में एक दूसरे धर्म के प्रति नफरत होती साड़ी चीजे होती हैं ये आरोप लगाया है आपके अपने पर विद्यालय नीचे कमेंट बॉक्स निर्णय को जरूर चेक करें बात कर के और अधिक हो सकती है इस ख़बर को भी किसान पंचायत है आप जयंत चौधरी समेत कई खाप पंचायतों ने बीजेपी के ऊपर गंभीर आरोप लगाया है

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन बीकेयू के नेता राकेश टिकैत के भाव के बाद मथुरा जिले में माहौल गरमा गया है स्थानों की आंदोलन के समर्थन में शनिवार को मथुरा के बाजना के मोहरा की मैदान पर एक महापंचायत इस में राष्ट्रीय लोकदल यानी आरंभिक हैं जीव आदेश जयंत चौधरी समेत कई बड़े नेता शामिल हुए रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार पर निशाना साधा उन्होंने कहा कि जाति धर्म में बांटने वाली बीजेपी के लोगों बीजेपी जो हैं

का लोगों को बहिष्कार करना चाहिए उन्होंने कहा कि कानून टूटने के लिए ही बनते हैं अगर किसान कानून वापस लेने की मांग कर रहे हैं तो वो आतंकवादी नहीं होती जबकि कई बीजेपी नेताओं में जो बिचारे बीस पुलिस प्रोटेस्ट में शामिल किसान उनको आतंकवादी तक कह दिया है रितेश बताते हैं देश द्रोही बताते हैं तो क्या डेमोक्रेसी के अनुसार अगर कोई किसी का विरोध करते हैं तो इसका मतलब टेस्ट होंगे क्या मोदी सरकार की नीतियों से अपने आप को सैटिस्फाइड करना ही है नेशनलिज़्म है ये एक बड़ा सवाल है

मथुरा के रख सात पंचायतों में यह बात साफ कही गई है जिसतरह से आज लोगों के बीच जाति धर्म के नाम पर नफरत फैल रही है इसके पीछे सिर्फ असर बीजेपी है बीजेपी की वजह से ही बोला साथ ही साथ खाप पंचायतों ने यह भी कहा है कि अब हम बीजेपी नेताओं अपने गाँव में घोषणा पूरी तरह से बंद करेंगे और अगर इस तरह की चीजें होती हैं

जगन्नाथ सरकार के साथ केंद्र की मोदी सरकार हैं नीचे कमेंट बॉक्स में इसके बारे में आप अपनी बात को रखें और हाँ इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करिए ताकि इन्फोर्मेशन दूसरे लोगों तक पहुंचना