ब्रेकिंग | कृषि कानून खिलाफ BJP मोदी बड़ा झटका | मोदी से भिड़े राहुल गाँधी कांग्रेस | Today breaking

हम आपके साथ लाइव आते हैं आप सभी जानते होंगे कि मोदी सरकार के द्वारा बनाए गए तीन कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ लगातार पूरे देश में विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं और आप जब तक इस विरोध प्रदर्शन को एक एक का मीडिया अलग तरह से पेश करके दिखा रही है वहीं दूसरी तरफ अब किसानों ने जो ऐलान किया है इसमें मौजूद सरकार को बड़ा झटका लगा है

वाचून नए प्रस्ताव कृषि कानून के अलावा पास कर दिए गए हैं एक एककर हम आपको बताते हैं कौन से वो साथ ही साथ कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी सरकार के उपर किसानों के प्रोटेस्ट पर एक बड़ा खुलासा किया है और इसके साथ साथ एक बड़ा आरोप लगाया है

और राखी शिकायत का एक और बड़ा या तीन बड़ी खबरें आपके सामने रखेंगे उससे पहले छोटी सी ड्रेस है अगर आपको भी लगता है कि दोस्त आज जो हमारे किसान भाई सड़कों पर बैठे हुए हैं जिन बातों को लेकर बैठे हुए सरकार को गंभीरता से उनकी बातों को सुनना चाहिए उनकी मांगों को पूरा करना चाहिए अगर आप भी ऐसी मांग करते हैं

तो वीडियो लाइव करके जान को सफाई जरूर करें सबसे पहले वाटता पास कर दिया है कि लाना टोल प्लाज़ा पर रविवार को आयोजित किसान महापंचायत में पंद्रह हज़ार से अधिक किसान मौजूद थे बताया जाता है कि महापंचायत को संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत दर्शनपाल सिंह और बलवीर सिंह राजीव आदमी संबोधित किया महापंचायत में

हाँ ज्ञाना भाषा उत्तर प्रदेश की पहुँच से अधिक खापों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा और इसी के साथ जहाँ एक तरफ लोगों की वापसी के सिवा कोई दूसरा उपाय और मोरना मारने की जीत पर किसानों ने पांच किसी के साथ साथ है और किसान नेता राकेश टिकैत ने ऐलान किया है कि किसानों की मांगें पूरी होने तक आंदोलन किसी भी सूरत में खत्म नहीं होगा सरकार के बाद हनी भारती समझ लें किसान महापंचायत की अध्यक्षता दादरी से निर्दलीय विधायक एवं सावधान खा चालीस के प्रधान जो है वो मूवी सर्वाधिक की है बताया जा रहा है

कि मैं विधायक बलवान शुरू भी महापंचायत में पहुंचे थे परिवार खाद्य पदार्थों मूवी सादमा की और होगा ठाक नाइंटी प्रधान

नाइंटी प्रधान भवन में भी किसान नेताओं से कहा है कि आंदोलन को किसी भी सूरत में कमजोर पड़ने नहीं दिया जाएगा पिछले साल की बात कहते हुए उन्होंने जो पार प्रस्ताव पास किए है आपको बता देता हूँ कौनसे प्रस्ताव है इसमें देखें जो सबसे पहला प्रस्ताव है

यह है जो बातचीत में कही गई है टेनेसी कानून वापस लिये जाएं और एसपी की गारंटी भी दी जाए दूसरा प्रस्ताव किसानों पर झूठे मुकदमे दर्ज किए गए होनी चाहिए तीसरा दिल्लीपर्यंत में गिरफ्तार युवा और किसानों को तुरंत रिहा किया जाना चाहिए चौथा जो है दिल्ली हिंसा में किसानों के वाहन जब्त किए गए हैं उन्हें छोड़ा जाए पांचवी जो है

यह वन फिफ्टी टू के अधिग्रहीत जमीन का उचित मुआवजा किसानों को मिले ये पास प्रस्ताव किसानों के द्वारा बताया जा रहा है कि पारित किए गए और साथ ही साथ ये जो खां पंचायत थी जिसमें लाखों लोग यहाँ पर पहुंचे थे और मोदी सरकार के हालाँकि पांच प्रस्ताव पास किए गए यहाँ पर वाले बताओ फ़िलहाल आकर्षित कानून के ख़िलाफ़ और मोदी सरकार के ख़िलाफ़ खाप पंचायतों ने जो है

आपके पास किया बात करते दूसरी ओर बड़ी खबरों की दूसरी ओर बड़ी ख़बर है वह कांग्रेस पार्टी और जानते होंगे लगातार कई पार्टियों ने किसानों के मुद्दों को उठाया लेकिन जो कांग्रेस पार्टी ने मुद्दा उठाया वो बहुत गंभीर है जीस तरह से कृषि कानून को लेकर दिल्ली के अंदर हिंसा हुई इस पर कांग्रेस का टीम में बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कुछ गंभीर आरोप लगाए हैं

कांग्रेस ने गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में किसान पारित के दौरान हुई घटना के पीछे केंद्र सरकार की सात खोने का बेहद सनसनीखेज आरोप लगा दिया उन्होंने कहा यानी की कांग्रेस पार्टी की तरफ से कहा गया है बीजेपी सरकार ने किसानों के बीच में अपने लोगो लालकिला भेजकर ये हिंसा कारवाई लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता सुधी अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन का अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव

सर पर धन्यवाद प्रस्ताव को लेकर चर्चा में हिस्सा लेते हुए इस घटना की संयुक्त संसदीय समिति जेपीसी से जांच कराने की भी मांग कर दी था बताया जा रहा है कि उन्होंने कहा कि लाल किले के घटना है

उसका उल्लेख करते हुए ये बातें उन्होंने कही उन्होंने कहा यह सच यह है कि आप चाहते थे कि कुछ घटना घडते ताकि लोगों का ध्यान भटकाया जा सके यहाँ आपकी सूची समझी साजिश थी आपने अपने लोगो को किसान के भेस में किसानों के प्रोसेस्ड स्नेक्स भी जा जिससे वो लोग जा करके वहाँ पर माहौल खड़ा करें और अफरा तफरी करें और कुछ ऐसी चीजों को अंजाम दे जिससे किसानों की छवि ख़राब हो किसानों का जो पीसफुली प्रोफिट चल रहा है

लेकिन विचार बनता जा रहा है जिससे किसी तरह से भी बदलाव करने की कोशीश की जाए ये सीधे तौर पर आरोप कांग्रेस पार्टी की तरफ से बीजेपी के ऊपर लगाया गया है और बीजेपी सरकार के ऊपर लगाया गया उन्होंने गृह मंत्री को भी आड़े हाथ उन्होंने यह भी कहा कि अमित शाह जैसे ताक़तवर गृह मंत्री के रहते हुए उपद्रवी लाल किले पर कैसे पहुंचे किसी तरह से पहुँच गए जब कितनी कड़ी सिक्योरिटी लगाई गई थी इतनी हाँ फोर्स लगाए गए थे तो आखिर डाल ख़िलाफ़ जो रूट ही

शामिल था किसानों के परिणाम में वहाँ से लोगों को कैसे गुज़रने दिया गया तो इसमें एक बड़ी साजिश है बीजेपी का इस के हाथ है कि कांग्रेस पार्टी ने बड़ा आरोप जो है लगा आपको अपनी इस प्रकार हैं नीचे बॉक्स में अपनी राय जरूर शर्करा की शिकायत वे एक बड़ा ऐलान कर दिया है उन्होंने कहा कि जब तक किसानों की मांगें पूरी नहीं होगी तब तक किसानों की घर वापसी नहीं होगी ये एक बार फिर से हम साफ कर देना चाहते हैं

अगर मोदी सरकार की सोच रही होगी कि किसान परेशान होकर खुद घर वापस चले जाएंगे तो यह उनकी भूल है हम कृषि कानूनों को वापस कराने की मांग पर अभी भी अधिक है और आगे भी रहेंगे चाहे जीतने दिनों तक हमें रोड पे बैठना पड़े बैठेंगे तो ये एक और महिला क्रिकेट की तरफ से किया गया है आप इस पर क्या बनाए रखते हैं नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर सक्रिय वीडियो को लाइव क्षेत्रों को संस्कृत जरूर करें