मोदी सरकार बड़ा ऐलान | 130 करोड़ लोगों बड़ा झटका | Breaking

किसी और दुनिया की कुछ और बड़ी खबरों के साथ सबसे पहले जो बड़ी खबरें हम आपको बताने जा रहे हैं तो यह है मोदी सरकार का एक और बहुत बड़ा आला जिसका सीधा असर आपकी ओर देश के सभी लोगों की जिंदगी पर पड़ने जा रहा है

साथ ही साथ मोदी राज़ में देश को एक और बड़ा झटका तीसरी ख़बर मॉनीटरिंग के अंदर चल रहे सियासी घमासान के बीच वहाँ की उपराज्यपाल किरण बेदी के उपर बड़ी कार्रवाई की गई है साथ ही साथ टिकरी बॉर्डर कृषि कानून के अलावा विरोध कर रहे किसानों के बीच एक बड़ी ख़बर है

कई बार कपड़े आपके सामने एक एक करके रखेंगे इससे पहले छोटी सी रिक्वेस्ट अगर आपको भी लगता है तो आज हमारे अन्नदाता जो सड़को पे बैठे हुए हैं और अपनी माँ को लेकर किस तरह से मिनी प्रोटेस्ट कर रहे हैं

सरकार को चाहिए कि उनकी मांगें जल्द से जल्द पूरी करें अगर आप भी ऐसी बात करते हैं तो वीडियो को लाइक करके चाल को समझकर जरूर करें हैं वैसे तो जब मोदी सरकार सत्ता में आयी थी तो सभी लोग यह उम्मीद लगा रहे थे कि शायद आप अच्छे दिन आयेंगे क्योंकि मोदी जी ने खुद नारा दिया था अब की बात मोदी सरकार और उसके बाद अच्छे दिन आएँगे लेकिन अच्छे दिन तो नहीं आ रहे हैं

अच्छे दिन की परीक्षा आयी तब दूर दूर तक नजर नहीं आ रही है दर्शकों किसी तरह से आप मामला लगातार बढ़ता जा रहा है हम आपको पहले ही बताते हैं कि मोदी सरकार ने अलावा क्या किया है मोदी सरकार ने बजट में चार बाइकों के निजीकरण करने की ओर हो खिलाकर दी है

इससे पहले ईडी या एजेंट एलआईसी और जोय एक पेट्रोल की कम्पनी जो है इंडियन पेट्रोल ऐसी कई चीजों का छेड़ कर दिया एक कोर्स वगेरह के निजीकरण कर दिया सब प्राइवेट हाथों में दे दिया रेलवे प्राइवेट हाथों में लेकिन आप चारों ओर ऐसे बैठे है

जिनको प्राइवेट हाथों में देने का ऐलान बाद यदि इन का निजीकरण मोदी सरकार देखकर देखी अनाउंसमेंट कर दी है जीसको लेकर वे लोगों के मन में सवाल उठता है कि आखिर वे कौन से सरकारी बैंक है जिनका सरकार निजीकरण करने जा रही है

लेकिन सूत्रों के मुताबिक पता चला है कि सरकार दिन चार बाइकों का निजीकरण करने जा रही है उनमें से बैंक ऑफ इंडिया शामिल हैं इसके अलावा बैकअप रास्ता बीओएफ इंडियन ओवरसीज बैंक और सेंट्रल ऍफ़ इंडिया बाइक शामिल हैं हाल ही में एक फरवरी को पेश किए गए बजट में जो है

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन देखें ताकि सरकार जो है अपने स्वामित्व वाले दो छोटे बैठकों व एक बीमा कंपनी का निजीकरण करने का लक्ष्य रख रही है आलाधिकारियों का कहना है कि बैंको की वृद्धि के अनुकूल

लगता है कि बैंको के निजीकरण को लेकर के बाजार और निवेशकों का मूड भागने के लिए निजी घर के पहले दौर में सरकार मझोले व छोटे बैंको का सिर लक्षित कर रहे हैं आप सोचें जो बैठ पहले निजी हाथों में है उधर घूम रहे हैं उन पैसे लेकर विभाग जा रही है कुछ हो जा रहा है

उसके बाद जो पहले से ही यदि सरकार के हाथों में चार बैड थी जिसमें मैने आपको लापता बैकअप सीडी सबसे बड़ा कारक है और उसके बाद बैकअप महाराष्ट्र उसके बाद वह सिटीबैंक है इन सारे बैंको का फिर से निजीकरण करने का ऐलान कर दिया गया है

आप सोचिए अगर साड़ी चीजे सरकार अपने हाथों से दूसरे प्राइवेट खातों में ही देंगे तो सरकार बैठ कर क्या पापड़ खाएगी यह सोचने की बात है सरकार को सत्ता में लाया किस लिए गया था साड़ी चीजे प्राइवेट हाथों में देने के लिए लाया गया था लेकिन अगर आप इन सभी चीज़ो पर अपनी बात करते हैं

अगर आप दक्षिण करते हैं तो आप को आर्डिनेशन करार दे दिया जाता है सुचित्रा ये एक ट्रेंड और स्ट्रेटजिक वेट की गई है आपकी क्या राय हैं नीचे कमेंट बॉक्स अफ्रीका को जरूर शेयर कर दिया बात करते और बड़ी ख़बर के अच्छे दिन आएँगे बहुत ही महंगाई की बार आपकी बात मोदी सरकार लेकिन जीस तरह से मोदी सर कार और मोदी जी ने नारा दिया था डीजल पेट्रोल करियर ज्यादा हो गया रसोई गैस के सिलेंडर का रेट ज्यादा हो गया और आपके जो है और बहुत साड़ी चीजों पर महंगाई बढ़ रही है

जिसके चलते बीजेपी के नेताओं ने बड़ी बड़ी आलू प्याज़ ये सलेक्टर की माला बनाकर अपने गले में पहनी लेकिन अब जब वही चीज़ पूरी तरह से ख़ामोश है दिल्ली में पेट्रोल की कीमत नवासी रुपये से ज्यादा पहुँच गई है डीजल के रेट अस्सी रुपए से अधिक पहुँच गई है जबकि मुंबई में पेट्रोल की कीमत परीक्षण संघीय रुपए पचहत्तर पैसे प्रति लीटर पहुँच गई है

जिन डीजल का रेट लगभग सत्तासी रुपए प्रति लीटर के अधिक करीब पहुँच गया है लेकिन इसके बावजूद भी अभी सरकार से मसले होने के लिए सीडी दी है सरकार बजट में भी बता चुकी है कि आने वाले दिनों में डीजल पेट्रोल के रेट पास जाएंगे और आप भी अगर पचानवे छियानवे और शव के करीब है पेट्रोल करीब जा रहा है

तो आने वाले दिनों में जब सरकार के कही हुई बातें पूरी होंगी जो सरकार ने अपने बजट में कहा था कि रेट बढ़ेंगे तो सोचे रेट क्या होगा गैस पहले बताया की सब्सिडी दी जाती है सब्सिडी पूरी तरह से गायब हो चुकी है लेकिन आप रसोई गैस में भी लगातार कीमतें बढ़ती जा रही है

राजधानी की बात कर लेते दिल्ली राजधानी दिल्ली में एलपीजी सिलेंडर की कीमत सात सौ उनहत्तर रुपये प्रति चौदह लीटर किलोग्राम का जो सिलेंडर है उसकी हो गई है पेट्रोल और डीजल

हैं उसकी हो गई है पेट्रोल और डीजल की एक तरफ महंगाई बढ़ रही है दूसरी तरफ रसोई गैस का सिलेंडर है उस कारण बन रहा है आठ सौ की रिकवरी सेंटर पहुँच गया है तो क्या यही अच्छे दिन थे और हम अगर यही अच्छे दिन थे तो क्या आपको लगता है

इस तरह के अच्छे दिन से देश का विकास हो पाएगा अगर एक तबके का सबसे इंसान चीजों को स्पोर्ट कर पाएगा लेकिन अगर आप इन सभी चीजों पर अपनी आवाज बुलंद करते है अगर आप इस पर आवाज़ उठाते हैं तो आप को देशद्रोही बता दिया जाता है ये कह दिया जाता है

ये शख्स देश के एक में काम करने नहीं दे रहा है सूची आप डीजल पेट्रोल के लिए दंडित कर दीजिए आप जो है साड़ी चीजे निजी हाथों में दे दीजिए अगर कोई आवाज़ उठाई है तो आप ये कहेंगे कि देशहित में लोग काम करने नहीं दे रहे सोचिए ज़रा ये एक प्रोपगेंडा फैलाया जा रहा है अच्छे दिन भर आपका क्या हाल हैं नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर शेयर करी है

वैसे भक्तों को इसका कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि वे आप सभी को पता होगा गोमूत्र और गाय के गोबर भैस के गोबर से क्या क्या करने वाले हैं आप सभी जानते हैं बात करने का और बड़ी खपत की पनीर चिली के अंदर चल रही सियासी घमासान के बीच एक बड़ी ख़बर सामने आ रही है यहाँ बार पानी चीनी की उपराज्यपाल किरण बेदी को उनके पद से हटा दिया गया है

बताया जा रहा है कि उनकी जगह तेलंगाना के राज्यपाल तमिल साहित्य शुद्ध राज्य को अतिरिक्त भार ढोला को अपराध विरोध किया गया था और काफी दिनों से पहले शरीर की कांग्रेस सरकार और किरण बेदी के बीच टकराव जारी था जिसके चलते मुख्यमंत्री हैं उन्होंने कारण भी वे राष्ट्रपति को पत्र लिखा और पत्र लेकर के बाद की थी कि इनको हटाया जाए जिसपर राष्ट्रपति ने संज्ञान लेते हुए पटरी की जो उपराज्पाल है किरण बेदी को उनके पद से हटा दिया है

महत्वपूर्ण डिग्री बॉर्डर की कृषि कानून के अलावा के साथ साथ सड़कों पर बैठा हुआ है सरकार के कामों में लाखों में कुछ भी सुनाई और दिखाई पड़ रहा है एक और के साथ हमारे बीच नहीं रहा है बताया जा रहा है कि श्री बॉर्डर पर एक और किसान की यदि कैद हो गई है

महेंद्रगढ़ में फसल बर्बाद होने पर अन्यदाता से अपने आप को खत्म कर दिया है अब ये सब नहीं पड़ रहा है सोचिए अगर आप आज कल इतना ही मिलते कुछ और खबरों के साथ वीडियो को लाइक शेर को स्थायी ज़रुर करें