Breaking News | Arnab Goswami Expose | Former Protest | Rahul Gandhi On Modi

दूसरों को अपने टीवी चैनल पर बैठ कर के और चिल्ला चिल्ला कर के अपने आप को जबरदस्ती देशभक्त साबित करने वाले पत्रकार आत्म गोस्वामी की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ गईं हैं सबसे पहले टीआरपी एम उसके बाद वाट्सऐप चैट ली उसके बाद एक और खुलासे में आरना गोस्वामी की उम्मीद बढ़ा दी है पुलिस ने सबूतों के साथ अर्नब गोस्वामी को धरदबोचा है

दरअसल क्या मामला है नया हम आपको विस्तार से बताएंगे साथ ही साथ आत्म गोस्वामी की एक समर्थक भी रंगे हाथों पकड़ ली गई है और राहुल गाँधी ने अर्नब गोस्वामी के वर्ष चैट के मामले पर पीएम नरेंद्र मोदी को मिला बेटा है और नरेंद्र मोदी जी के ऊपर गंभीर आरोप लगाए जिसके चलते आप उनकी मुश्किलें बढ़ रही हैं तीन बड़ी खबरें आपके सामने क्योंकि उससे पहले छोटी सी रिक्वेस्ट है अगर आपको भी लगता है

कि दोस्तोँ आज हमारी मीडिया के द्वारा जो लोगों के बीच नफरत फैलाई जा रही है इसके ऊपर लगाम लगनी चाहिए और अपनी स्पष्ट जांच होनी चाहिए तो आप इस वीडियो को करके जान को सब्सक्राइब जरूर कर नीचे आप सभी जानते हैं पहले तो यार पीस काम में हारना के साथ साथ एसईओ पहले ही अंदर गए थे उसके बाद अब जो है वॉट्सऐप चैट का मामला लगाएं का तूल पकड़ता जा रहा जिसके चलते अलग गोस्वामी की नींद तो पहले से ही उड़ी हुई है

साथ ही साथ कुछ बीजेपी नेताओं के बीच सवाल खड़ा कर रहा है दरअसल हम आपको ख़बर दिखाए आप इस ख़बर को देखें भारत के पूर्व सीईओ पार्थ दासगुप्ता हैं आप आत्म गोस्वामी को लेकर जो खुलासा किया है ये चौंका देने वाला है दरअसल पार्थ दासगुप्ता ने टीआरपी के मामले में बड़ा खुलासा किया है उन्होंने दावा किया है कि रिपब्लिक टीवी के एडिटर एंड जी और चिल्ला चिल्लाकर के जबरदस्त देशभक्ति साबित करने वाले आनंद गोस्वामी है

उससे टीआरपी के साथ छेड़छाड़ करने के बदले बारह हज़ार अमेरिकी डॉलर रुपये दिए थे स्ट्रेस के मुताबिक इस बात का खुलासा पातु दास ने मुंबई पुलिस के सामने लिखित बयान में किया है कि हमने क्या आप ख़बर में देखनी चाहिए आर्थो ने यह भी कहा है कि उसे फिक्स रेट के लिए उन चालीस लाख रुपये तीन साल में दिये गये थे मुंबई पुलिस ने मामले में तीन हज़ार छे सौ पन्नों की सप्लीमेंट्री चार्जशीट में चौकों

व रीको में फाइल किया है इसके साथ साथ इसमें बात की फोरेंसिक रिपोर्ट को भी पेश किया जाए इसके साथ इसके अलावा मुंबई पुलिस ने जो है दासगुप्ता और आत्मा को स् वामी के बीच हुई ल हम भी बातचीत की वाट्सऐप चैट और इसके साथ उनसठ लोगों के बयान भी फाइल किए हैं बताया जा रहा है कि जो हैं जिसमें केवल ऑपरेटर्स और बार

इसमें केबल ऑपरेटर और बार काउंसिल के पूर्व कर्मचारी शामिल हैं सैट लीक मामले सामने आने के बाद फिर साधना गोस्वामी पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी जा रही है और अब पुलिस ने समूह के साथ आरंभ गोस्वामी गोदा पहुंचा है लेकिन उसके बावजूद भी अपनी नकारात्मक गोस्वामी की गिरफ्तारी न होना यह दर्शाता है ज्ञान को शामिल के पीछे किनका है अभी तक गिरफ्तारी न होना कहीं न कहीं कहाँ तक जाते हैं आप बहुत समझदार है इसको लेकर बताया कि महाराष्ट्र सरकार लगातार कानून की जानकारी के संपर्क में हैं

रविवार को राज्य केंद्र मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि यह मुद्दा राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा हुआ है और केंद्र सरकार को इस पर जवाब देना चाहिए देशमुख ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार इस संबंध में कानूनी राय ले रही है क्या राज़ कर रहे विभाग ऑफिस ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट नाइंटी थ्री के तहत इस मामले में कार्रवाई कर सकता है इसकी भी कानूनी यानी की के लिए जा रही है

कुछ दिनों पहले अपना गोस्वामी और ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल यानी की बाहर के पूर्व प्रमुख वास्तविकता के बीच वीचैट ली का मामला लगातार दूर पकड़ रहा है इसे सुप्रीम कोर्ट के वरीष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने शेयर किया था उन्होंने सेट के मामले पर कहा था कि इतने तो क्या सबूत है या न भूस्वामी जिंदगी भर जो है जेल में चक्की घाटा जो है

जेल में जो है वो अन्दर जा सकता है लेकिन उसके बावजूद भी अभी तक का नाम गोस्वामी की गिरफ्तारी नहीं हुई है और जो नेता पहले जब मुंबई पुलिस ने आनंद को शामिल को गिरफ्तार किया था वो कह रहे थे कि ये कहीं न कहीं मीडिया चन्द्र स्वतंत्रता के ऊपर जो है एक तरह से हमला है उनके मुँह के अंदर नहीं जाने दिया और बीजेपी के कई नेताओं के बयान पर लेने की कोशीश की गई कोई भी बयान देने के लिए रैली नहीं सोचे यानी की आपके फेवर में करे तो सब थी अगर आपने यह सिर्फ गलत असर हो रहा है

अगर एक और ख़बर की बात कर लेते हैं अभी तक तो आप सभी जानते होंगे कि अपना गोस्वामी ही मामले में फंसे हैं लेकिन अब उनके जो समझते हैं चमची है वो भी फंस रहे हैं दरअसल अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के नाम पर देशभर में ठगी का गोरखधंधा शुरू हो गया है उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के बाद शक्ति घर के बिलासपुर में राम मंदिर निर्माण के लिए निभी करने कलेक्शन के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है

यह एक महिला को राम मंदिर की फर्जी रसीद छपवाकर चलता वसूलने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है बताये प्राग की गिरफ्तारी की गई महिला का नाम उसका आखले है जो सोशल मीडिया पर खुद को कट्टर हिंदू बताती है महिला की सोशल प्रोफाइल देखकर पता चलता है कि रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ आत्म गोस्वामी की सबसे बड़ी फैन हैं वह अन्ना के समर्थन में विशाल मशाल जुलूस भी निकाल चुकी है यानी कि अन्ना को शामिल के जीतने भी समर्थक है

उनका तो अता पता नहीं है लेकिन ये एक समर्थक जो कि अयोध्या के राम मंदिर के नाम पर गयी किस तरह से ठगी करते हुए पकड़ी गई है इसके सबूत भी आप देख सकते हैं खबरों में यह मामले सोचे था उसके बाद भी ये देशभक्त हैं मंदिर के नाम पर लोगों को बरगलाना मंदिर के नाम पर फर्जी चंद करके अपना जी भावना के देशभक्ति है

यह ठीक है सोच लिया था खा आपकी अपनी है नीचे कमेंट बॉक्स ये बात करते हैं और बड़ी ख़बर राहुल गाँधी ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपर आना गोस्वामी के साथ साथ पढ़े आरोप लगाया है आप इस ख़बर को देखें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने सोमवार को आरोप लगाया है कि बालाकोट स्ट्राइक से पहले ही उसकी जानकारी रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी को लीक करने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हैं

उन्होंने यह भी कहा है कि यह सब जानकारी गोपनीय कानून का उल्लंघन है हालांकि उन्होंने अपने आरोप को लेकर कोई सबूत पेश नहीं किया प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से भी फिलहाल इस दावे पर कोई जवाब नहीं आया प्रधान मंत्री मुख्यमंत्री समेत पांच लोगों को जानकारी होती है इन सारे मामलों की तो यह जानकारी अर्नब गोस्वामी के पास कैसे पहुंची ये बड़ा सवाल राहुल गाँधी ने खड़ा किया है राहुल गाँधी ने साफ कहा है कि जब टॉक लेबल के लोगों के पास अधिकारियों के पास स्ट्राइक वगैरह की जानकारी रहती हैं

आनंद गोस्वामी के पास पहले जानकारी कैसे पहुंची जानकारी किसने दी कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने यहाँ तक पुरुषों के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री रक्षा मंत्री समेत पांच लोगों को किसी सैन्य कार्रवाई के बारे में पहले जानकारी होती है लेकिन असलम को शामिल के साथ पास इस तरह कि तथागत जानकारी सब्जेक्ट में इस तरह की जिसे मिलना दर्शाता है ज्ञान को शमी के तार कहीं ना कहीं बड़ी बड़ी नेताओं के साथ जुड़े हुए हैं जिसपर स्पष्ट